How to Perform Siddha Divya Hawan

1- इस सिद्ध दिव्य हवन को अपने घर पर करने का समय प्रतिदिन प्रातः 8:00 बजे से लेकर प्रात 11:00 बजे तक और रात्रि 8:00 बजे से लेकर रात्रि 11:00 बजे तक का है, लेकिन एक दिन में सिर्फ एक हवन ही किया जा सकता है | इसी समय के बीच में हवन को शुरू कर देना है |

2- इसमें शर्त यह है कि हवन करने के 1 दिन पूर्व आप द्वारा ली गई सिद्ध दिव्य हवन की किट पर अंकित सीरियल नंबर को दिए गए WhatsApp Mobile No. 752-4073-999 पर अपना नाम और पता सहित रजिस्टर करा दें या किट पर अंकित सीरियल नंबर की फोटो खींचकर अपना नाम और पता सहित WhatsApp पर SMS कर देना है |

3- आपको हवन करने की स्वीकृति का इंतजार नहीं करना है, सिर्फ सूचना भर ही देनी होती है और अपना सिद्ध हवन शुरू कर देना है | आपके घर पर मौजूद नकारात्मक एवं गंदी शक्तियां तुरंत ही बंधना शुरू हो जाएंगी और भाग नहीं पाएंगी और आपके हवन शुरू करने की सूचना एवं निमंत्रण पूo बाबा जी एवं पूo माता जी को दिया जाता है ताकि उनके द्वारा देव गणों को हवन स्थल पर भेजकर, गंदी शक्तियों को भस्म कर आप के उद्देश्य एवं मनोकामना को पूर्ण किया जा सके |

4- सर्वप्रथम शिव परिवार एवं पूजनीय बाबा जी की फोटो की पूजा अर्चना करें उन्हें रोली, चंदन, इत्र, लौंग, इलाइची, अक्षत, पुष्प आदि अर्पित करके अगरबत्ती, धूप, ज्योति आदि जलाकर, भोग लगाएं |

5- अब आप किट में रखी अभिमंत्रित हल्दी को लेकर मुख्य द्वार पर जाएं और अंदर ही रहकर हल्दी की एक लकीर बाईं ओर से शुरू कर के दरवाजे के दाहिनी ओर तक खींचकर बंद कर दें, यदि आपके मकान के पीछे कोई अन्य दरवाजा हो तो बाहर की ओर खुलता हो तो वहां पर भी हल्दी से लकीर खींच दें तथा खिड़कियों को खोलकर दरवाजे बंद कर दें |

6- सावधानी: परिवार की सभी सदस्य यदि हवन में उपलब्ध रहे तो अच्छा है, हवन शुरू होने से पूर्व जब अभिमंत्रित हल्दी से घर के दरवाजों को बंधेज करते हैं, उसके बाद से घर के अंदर आ तो कोई भी सकता है लेकिन परिवार का कोई भी सदस्य घर से बाहर नहीं जाना चाहिए अन्यथा कुछ प्रेत आत्माएं हवन के बीच में बाहर जाने वाले सदस्य के शरीर में घुसकर बाहर भाग सकती हैं और भस्म होने से अपने को बचा लेंगी | यदि किसी कारणवश बाहर जाना ही पड़े तो पूजनीय बाबा जी से प्रार्थना करके अपनी समस्या बता कर जा सकते हैं |

7- अब आप जमीन पर हवन कुंड अथवा 7-8 ईंट बिछा कर, उसके ऊपर (किट के साथ दी गई) आम की लकड़ियां बिछाएं, तत्पश्चात इनके बीच में नारियल गिरी के छोटे-छोटे टुकड़े रखें और थोड़ी सी हवन सामग्री छिड़क दें |

8- अब आप इसके ऊपर पुनः से नारियल के 7-8 बड़े टुकड़ों को कटोरियों की तरह रखें और इन्हें हवन सामग्री से भरकर, ऊपर से कपूर की टिकिया रखें |

9- अब आप सभी लोग करौली सरकार की जय बोल कर इसमें अग्नि लगा दें | अब पुनः से इसके ऊपर नारियल के बचे हुए बड़े टुकड़ों को उल्टा करके रख दें | यह अग्नि लगभग आधा घंटे तक लगातार जलती रहेगी और आप सभी लोग इसके आसपास बैठकर “ॐ नमः शिवाय” का जाप मन ही मन करते रहें तथा पीड़ित व्यक्ति को आंख बंद करके बैठने को बोलें | पुरुष और महिलाएं यदि बालों में चोटी या गांठ लगाएं हो तो उन्हें अवश्य ही खोल दें |

10- ध्यान रखें कि जैसे ही अग्नि में उठ रही आग की लपटें शांत होने लगे तो बची हुई सामग्री को भी उपस्थित परिवार के सदस्य “करौली सरकार की जय” बोल कर इसके ऊपर डाल दें, अब इससे धीरे-धीरे धुआं उठना शुरू होगा | यह हवन लगातार लगभग 2 घंटे तक चलता रहेगा, तब तक आप लोग इसके आसपास बैठकर “ॐ नमः शिवाय” का जाप मन ही मन करते रहें और भजन आदि करते रहें | यदि धुआं बहुत ज्यादा हो जाए तो आप घर के दरवाजे भी खोल सकते हैं |

11- हवन की बची हुई इस राक को आप महीन कपड़े से छानकर रख लें | इस भभूत को आप लोग प्रतिदिन सुबह-शाम खाएं, मस्तक पर लगाएं, जल में घोलकर पियें, यदि आप के कमर में गुरु जी द्वारा बंधन लगाया गया है तो उसकी गाँठ पर प्रतिदिन लगाएं तथा भभूत को छानने के बाद बचे हुए बड़े टुकड़ों को किसी बहते हुए शुद्ध जल अथवा गंगा नदी में प्रवाहित कर दें |

12- सिद्ध हवन के पश्चात किट में रखी हुई राई को घर की छत पर तथा घर के प्रत्येक कमरों में छिड़क दें और किट में रखे हुए कलावा को घर के प्रत्येक सदस्य की कलाई पर बांध दें।

नोट 1 – इस हवन के हो जाने के पश्चात प्रतिदिन सुबह और शाम को “करौली सरकार की जय” बोल कर परम पूजनीय श्री बाबा जी को ध्यान करके दो अगरबत्ति जलाएं और यहां पर एक लोटा साफ़ जल भरकर रख दें और स्वस्थ होने की कामना के साथ प्रार्थना करें | 5 मिनट बाद यह जल उठाकर आप स्वयं और अपने परिवार के सदस्यों को प्रसाद के रूप में पिलाएं | ऐसा सुबह-शाम दोनों समय करें |

नोट 2 – आप द्वारा किए गए सिद्ध दिव्य हवन की कुछ फोटो और एक छोटा सा वीडियो बनाकर तथा हवन के दौरान परिवार के सदस्यों को होने वाले खास अनुभव लिखकर, WhatsApp Mobile No. 752-4073-999 पर अवश्य भेजें… ताकि फोटो और वीडियो देखकर यह जाना जा सके कि आपके घर पर कार्यवाही किस हद तक सफल रही है।